अजब-गजब

यहां पानी ऊपर की ओर बहता है और गेंद हवा में ठहर जाती है

Written by Admin


यहां पानी ऊपर की ओर बहता है और गेंद हवा में ठहर जाती है, एक ऐसी जगह जहां पानी ऊपर की बहता है, मिस्ट्री स्पॉट (Mystery spot), आगे पढ़े इससे जुडी जानकारी :


Mystery spot, Miracle Spot information in Hindi

अगर आपको कोई बताएगा कि दुनिया में एक ऐसी रहस्यमय जगह है जहां पानी ऊपर की ओर बहता है और गेंद हवा में ठहर जाती है, तो क्या आप विश्वास करेंगे? आप ही नहीं इस बात पर कई लोग विश्वास नहीं करेंगे.

लेकिन यह सच है कि दुनिया में ऐसी रहस्यमयी जगह मौजूद है जहां पानी उल्टा बहता है और गेंद जैसी चीजे हवा में तैरती है. वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसा तभी संभव है जब गुरुत्वाकर्षण बल काम नहीं करता.

दुनिया में ऐसी अजीबोगरीब और हैरान कर देने वाली रहस्यमयी जगहों की कोई कमी नहीं है, इसलिए “पानी ऊपर की तरफ बहता है और गेंद हवा में ठहर जाती है” इस बात पर आपको विश्वास करना होगा.

यहां पर हम एक ऐसी ही रहस्यमयी और चमत्कारिक जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जो अमेरिका में मौजूद है, जहां सब कुछ उल्टा-पुल्टा होता है. जिस तरह गुरुत्वाकर्षण के प्रयोग में होता हैं, उसी तरह के प्रभाव का अहसास उस जगह होता है.

 

यहां पानी ऊपर की ओर बहता है और गेंद हवा में ठहर जाती है

वैज्ञानिकों के अनुसार जहां गुरुत्वाकर्षण बल काम नहीं करता वहां सब कुछ उल्टा-पुल्टा होता है. ठीक इसी तरह अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य के सांताक्रूज इलाके में एक ऐसा रिसॉर्ट है, जहां सब कुछ उल्टा-पुल्टा होता है. इस जगह को “मिस्ट्री स्पॉट (Mystery spot)” के नाम जाना जाता है.

यह जगह किसी रहस्यमयी जगह से कम नहीं है, क्योंकि जहां गुरुत्वाकर्षण बल काम नहीं करता, वहां सब उल्टा-पुल्टा होता है, वैसे ही यहां भी होता है, वह भी सिर्फ एक ही कमरे में, जबकि उस कमरे के आसपास की जगह सामान्य जगह की तरह ही है.

इसलिए कई लोग कहते हैं कि यहां ऐसा होने का कारण गुरुत्वाकर्षण बल का न होना नहीं है, बल्कि यहां कोई रहस्यमयी शक्ति हो सकती है, जो इस कमरे को प्रभावित करती है.

यहां अगर पानी गिराया जाये, तो वह पानी ऊपर की ओर जाता है, यहां अगर आप तीरसे खड़े होकर गिरने की कोशिश करेंगे, तो आप गिरेंगे नहीं, यहां गेंद और उसके जैसी चीजे हवा में तैरती है और ऐसा सिर्फ 150 वर्ग फुट के एक कमरे में होता है.

 

इसके पीछे की कहानी

कुछ जानकारों के मुताबिक, यहां (1939 में) एक इमारत बननी थी, लेकिन सर्वेयर ने जब खाली जगह पर चार्ट और अन्य सामान रखा तो वह हवा में तैरने लगा और ऐसा सिर्फ एक सीमित दायरे में हो रहा था और यह उस समय उनके लिए किसी चमत्कार से कम नहीं था.

उसके बाद उस जमीन के मालिक ने वहां इमारत बनाने से मना कर दिया. क्‍योंकि उसे लगा कि इस जगह कोई रहस्य हो सकता है या फिर यहां कोई जादूई शक्ति हो सकती है.

उसके बाद कुछ वैज्ञानिकों ने यहां के रहस्य का पता लगाने की कोशिश की, तो उन्हें पता चला कि वहां 150 वर्ग फुट के गोलाकार क्षेत्र में गुरुत्वाकर्षण बल काम नहीं करता है.

लेकिन बहुत से लोग इस बात को पूरा सच नहीं मानते हैं, क्योंकि गुरुत्वाकर्षण बल कमरे के आस-पास की जगह में काम करता है, “सिर्फ कमरे में ही गुरुत्वाकर्षण बल काम न करना” यह उनके लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है.


 

संबंधित लेख

Topic of this article: Yaha pani upar ki or bahta hai, Mystery spot information in Hindi

आपके अमूल्य सुझाब ही mail.viralsinindia@gmail.com की सफलता की कुंजी है|

About the author

Admin

Leave a Comment