ब्यूटी

मिथुन राशि के इष्ट देव कौन है, मिथुन राशि के लिए रत्न, मिथुन राशि के दोष का उपाय, मिथुन राशि के लिए उपाय, Mithun Rashi Ke Isht Dev Kaun Hai, Mithun Rashi Ke Liye Ratna, Mithun Rashi Ke Dosh Ka Upaay, Mithun Rashi Ke Liye Upaay

Written by Admin


मिथुन राशि के इष्ट देव कौन है, मिथुन राशि के लिए रत्न, मिथुन राशि के दोष का उपाय, मिथुन राशि के लिए उपाय, Mithun Rashi Ke Isht Dev Kaun Hai, Mithun Rashi Ke Liye Ratna, Mithun Rashi Ke Dosh Ka Upaay, Mithun Rashi Ke Liye Upaay

मिथुन राशि – परिचय

राशि चक्र की तीसरी राशि मिथुन के स्वामी बुध ग्रह है. मिथुन राशि के जातक आकर्षक और कला के प्रेमी होते हैं. इनका नेगेटिव प्‍वाइंट होता है कि इन्‍हें जीवन में सफलता ज़रा देर से मिलती है. बुध का कमजोर होना करियर में असफलता देता है. मिथुन राशि के जिन जातकों की कुंडली में बुध कमजोर हो उन्‍हें इष्टदेव की पूजा करनी चाहिए तथा अपनी राशिनुसार रत्न धारण करना चाहिए. ऐसा करने से आपके जीवन से सुख समृद्धि आएगी तथा आपकी मनोकामना पूर्ण होगी. यहां जानिए मिथुन राशि के इष्टदेव, रत्न व उपाय के बारे में जानकारी विस्तार से-

मिथुन राशि के इष्ट देव कौन है?, Mithun Rashi Ke Isht Dev Kaun Hai?

इष्ट देव का अर्थ होता है अपनी राशि के पसंद के देवता. महाभारत काल में गीता के समय श्रीकृष्ण ने अर्जुन को ईष्ट की महत्ता का बखान करते हुए कहा था- सर्वधर्मान्परित्यज्य मामेकं शरणम् व्रज. अहं तवां सर्वेपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुचः.. अर्थात्- अर्जुन सब का त्याग कर एकमात्र मेरी ही शरण में आ जाओ. मैं तुम्हारे सारे पापो से तुमको मुक्त कर दूंगा. कहा जाता है कि व्यक्ति को ईधर उधर भटकने की बजाय किसी एक देवता को अपना ईष्ट देव मानकर पूजा करनी चाहिए. ईष्ट अपनी शरण में आये भक्त का पूरा उत्तरदायित्व अपने ऊपर ले लेते है और उसके समस्त पापो को क्षमा कर देते है. इसलिए इष्टदेव के ज्ञान से हम अपने किये गए पाप से दूर हो जाते है. अत: मिथुन राशि के जातकों को भी कुंडली के ग्रह दोष को कम करने व जीवन में सफलता प्राप्ति के लिए इष्ट देव की पूजा करनी चाहिए. मिथुन (Gemini) राशि का स्वामी ग्रह बुध है और इष्ट देव गणेशजी और विष्णुजी हैं. इनकी पूजा करने से आपकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी.
मिथुन राशि का स्वामी ग्रह – बुध
मिथुन राशि के इष्ट देव – गणेशजी और विष्णुजी

मिथुन राशि के लिए रत्न, Mithun Rashi Ke Liye Ratna

भारतीय ज्योतिषी में 9 रत्नों को महत्त्वपूर्ण माना गया है. यह माना जाता है कि ये 9 रत्न किसी न किसी ग्रह से जुड़े हुए हैं. ग्रह के बुरे प्रभावों को दूर करने तथा जीवन में खुशियां लाने के लिए रत्न धारण किया जाता है, लेकिन इसका लाभ तभी मिलता है जब आप इसे अपनी राशिनुसार धारण करें. तो आइए जानते हैं कि मिथुन राशि के लोगों को कौन सा रत्न धारण करना चाहिए तथा इसके क्या लाभ है-
मिथुन राशि के लोग कौन सा रत्न धारण करें- मिथुन राशि के स्वामी बुध ग्रह है. बुध का कमजोर होना करियर में असफलता देता है. इसलिए कुंडली में बुध की स्थिति को मजबूत करने के लिए मिथुन राशि के लोगों को पन्‍ना धारण करना चाहिए. पन्ना रत्न बुध ग्रह को बल प्रदान करने के लिए पहना जाता है. पन्ना मूल्यवान रत्नों में से एक है. जब आप पन्ना रत्न खरीदने जाते हैं, तो पन्ना रत्न की चमक, वजन, पारदर्शिता आदि को देखते हुए इसका मूल्य तय किया जाता है. बुध ग्रह का रंग हरा है इसलिए मिथुन राशि वालों को हरे रंग का पन्ना पहनना चाहिए. पन्ना धारण करने से जीवन में सफलता प्राप्‍ति में सहयोग मिलता है.
पन्ना किस हाथ में पहने, पन्ना किस उंगली मे धारण करें, पन्ना किस दिन पहनें – मिथुन राशि के जातक पन्ना दायें हाथ की अनामिका यानी कनिष्ठ उंगली में बुधवार को सुबह स्नान करने के बाद धारण करें, शुभ रहेगा.
मिथुन राशि के जातक कौन सा रत्न धारण न करें- मिथुन राशि के जातक नीलम रत्‍न न पहनें तो यह इनके लिए लाभप्रद होगा.

पन्ना पहनने के लाभ और नुकसान
लाभ – पन्ना मिथुन राशि के लोगों के सोचने के कौशल में सुधार करने में मदद करता है क्योंकि वे अपनी बुद्धि का बहुत अधिक उपयोग करने की अधिक संभावना रखते हैं जिससे चिंता विकार हो सकते हैं. यह रत्न मिथुन राशि के लोगों की दृष्टि को तेज करने, उनके स्मरण शक्ति को बढ़ाने और किसी भी संदेह को दूर करने में मदद करेगा. पन्ना से अच्छी वाणी, अच्छी सेहत, धन-धान्य तथा अन्य बहुत कुछ प्राप्त होता है. पन्ना बुध को बल देने के लिए पहना जाता है. हाजमा अच्‍छा करने के लिए भी इसे धारण करते हैं. नौकरी और व्यापार में उन्नति के लिए भी इसे धारण करने की सलाह दी जाती है.
नुकसान – अगर व्यक्ति अपनी राशि के अनुसार पन्ना धारण न करें तो उन्हें जीवन में तकाफी नुकसान झेलना पड़ सकता है. लाल किताब के अनुसार बुध तीसरे या 12वें हो तो पन्ना नहीं पहनना चाहिए. ज्योतिष के अनुसार 6, 8, 12 का बुध स्वामी हो तो पन्ना पहनने से अचानक नुकसान, यदि बुध की महादशा चल रही है और बुध 8वें या 12वें भाव में बैठा है तो भी पन्ना धारण करने से समस्या उत्पन्न हो सकती है. ज्योतिष के अनुसार, यदि बुध मंगल, शनि, राहु या केतु के साथ स्थित हो या फिर उस पर शत्रु ग्रह की दृष्टि हो तो ऐसी स्थिति में भी पन्ना रत्न धारण किया जा सकता है

मिथुन राशि के दोष का उपाय, मिथुन राशि के लिए उपाय

मिथुन राशि के दोष का उपाय, मिथुन राशि के लिए उपाय, Mithun Rashi Ke Dosh Ka Upaay, Mithun Rashi Ke Liye Upaay
मिथुन राशि के जातकों को अपने कष्ट दूर करने व जीवन में सफलता पाने के लिए निम्न उपाय करने चाहिए, यह उपाय करने से अवश्य ही आपकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी.
1. मिथुन राशि के लोगों को प्रतिदिन अपने इष्टदेव गणेशजी और विष्णुजी की विधिवत पूजा अर्चना करनी चाहिए, ऐसा करने से भगवान का आशीर्वाद अवश्य ही आपको मिलेगा.
2. मिथुन राशि के जातकों को बुधवार का व्रत करना चाहिए तथा गरीबों को खाना खिलाना चाहिए, यदि व्रत रखना संभव न हो सके तो भगवान गणेश की पूजा अवश्य करें.
3. मिथुन राशि के लोगों के लिए साधना अथवा पूजा का कक्ष हरे रंग का होना चाहिए, शीघ्र सफलता मिलेगी व सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी.
4. यदि पर्याप्त धनार्जन के बावजूद धन संचय नहीं हो रहा हो तो मिथुन राशि के जातकों को शुक्रवार के दिन भोजन के पूर्व गौ ग्रास निकालकर ही भोजन करना चाहिए. इसके साथ ही दीपावली के दिन दक्षिणावर्ती शंख की पूजा करके उसे अपने धन संचय के स्थान रख देना चाहिए. इससे आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा.
5. महत्वपूर्ण कार्यों में सफलता पाने के लिए कार्य के दौरान हरे रंग के वस्त्र धारण करें. ऐसा करने से मिथुन राशि के लोगों को कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी व जीवन सुखमय बनेगा.

6. यदि आप ऋण के जाल में फंस चुके हैं और उससे बाहर निकलना चाहते हैं तो मां लक्ष्मी जी के पूजन के समय गणेश जी को हल्दी की माला पहनाएं. बाद में उस माला को हरे वस्त्र में बांधकर पूजा घर अथवा किसी तिजोरी में रख दें. जल्द ही आप कर्ज से मुक्त हो जाएंगे.
7.  मिथुन राशि के जातक ऋण मुक्ति के लिए बरगद के पांच फल लाकर उसे लाल चंदन में रंगकर नए लाल वस्त्र में कुछ मुद्रा के साथ बांधकर अपने घर अथवा व्यवसाय प्रतिष्ठान में किसी कील से लटका दें, अवश्य लाभ मिलेगा.
8. यदि आपके मन में कोई विशेष कामना हो तो लक्ष्मी पूजन के बाद एक जटायुक्त नारियल लेकर अपनी मनोकामना कहते हुए उसे लाल वस्त्र में बांधकर स्वच्छ एवं एकांत स्थान में रख दें. जब आपकी अभिलाषा पूरी हो जाए तो उस नारियल को माता लक्ष्मी के मंदिर में जाकर चढ़ा दें.
9. बुधवार के दिन कोई हरा वस्त्र शरीर पर ज़रुर धारण करें. इससे आपकी बुद्धि तेज होगी और आप गणित, सांख्यिकी और वाणिज्य जैसे विषयों में सफलता अर्जित करेंगे.
10. मिथुन राशि के जातकों को पन्ना रत्न धारण करने से कई क्षेत्रों में लाभ प्राप्त होता है. यह रत्न आपके लिए रक्षा कवच होगा. इसे धारण करने से धन, शिक्षा, यश, मान-प्रतिष्ठा तथा भूमि और भवन में वृद्धि होती है.

मिथुन राशि के इष्ट देव कौन है, मिथुन राशि के लिए रत्न, मिथुन राशि के दोष का उपाय, मिथुन राशि के लिए उपाय, Mithun Rashi Ke Isht Dev Kaun Hai, Mithun Rashi Ke Liye Ratna, Mithun Rashi Ke Dosh Ka Upaay, Mithun Rashi Ke Liye Upaay

आपके अमूल्य सुझाब ही mail.viralsinindia@gmail.com की सफलता की कुंजी है|

About the author

Admin

Leave a Comment